Fod Dena Rap Lyrics - Fotty Seven (1)

Fod Dena Rap Lyrics – Fotty Seven – Get More Indian Hip Hop Star Rap Lyrics Only at GullyGangs

Fod Dena Rap Lyrics – Fotty Seven from Hindi Rap sung by Fotty Seven. Learn, Fod Dena Rap Lyrics – Fotty Seven meaning in English/Hindi

Song: Fod Dena
Singer: Fotty Seven
Lyrics: Fotty Seven
Music: Fotty Seven
Cast: Fotty Seven
Lable: Fotty Seven

Lyrics

Kaise kar lete hain log aisi harqate
Yahan toh likhte hue hi
Mere haath kaanp jaate hai
Aadmi hai ye ya koi jaanwar hai junglie

Jo akeli ladki ki saans bhaanp jaate hai
Par jaanwar bhi pehle maarta hai phir khaata hai
Ye pehle nochte hai phir khoon karte hai
Sochta hu aise logo ke beech
Kisi ladki ke maa baap
Kaise kabhi bhi sukoon bharte hai
Jis ke saath hua yeh
Usne jhela kaise hoga

Mera dil toh khabar sun ke
Pehle cheekh bhare
Meri jeebh jale
Lekin aise haalaat mai koi
Koi kaise apne ghar me
Beti ki ummed kare
Aise mauke par mujhe
Feel hoti lachari
Mujrimo ko de du
Unke jurm se mai azadi

Gusse mei yaad nahi aati
Hai ye baat mujhje
Ki meri lachari hi dikhayegi aukaat mujhe
Ki mere bas ki nahi kuchh bhi
Bas likhta hu mai
Kyuki mai bhi hu ek buzdil
Kya mai usko bacha pta agar mai toa uss din
Shayad nahi kyuki mujhe padhi hai bas ki khud ki

Baat bas mai apni nahi, kar raha hu teri bhi
Jis ne kabhi himmat dikhaane mei thodi deri ki
Jis ne kabhi aage badh kar kari nahi awaz
Jisne sirf bheed mei hi fer li thi aankh
Jis ko pehle jaldi hoti video banane ki
Jis ko pehle fikar hoti hai poore zamaane ki
Jis ko lagta hai ki koi aur pehel karega
Jis ko lagte hai hone do hamei kya?

Shayad ye darinde kabhi khatam nahi honge
Aur shayad kanoon har bar chhod dega
Par agar tujhe kabhi kuchh galt hota dikhe
Toh himmat ke saath jaana fod dena
Par agar tujhe kabhi kuchh galt hota dikhe
Toh himmat ke saath jaana fod dena

कैसे कर लेते हैं लोग ऐसी हरकते
यहाँ तोह लिखते हुए ही
मेरे हाथ काँप जाते है
आदमी है ये या कोई जानवर है जंगली

जो अकेली लड़की की सांस भांप जाते है
पर जानवर भी पहले मारता है फिर खाता है
ये पहले नोचते है फिर खून करते है
सोचता हु ऐसे लोगो के बीच
किसी लड़की के माँ बाप
कैसे कभी भी सुकून भरते है
जिस के साथ हुआ यह
उसने झेला कैसे होगा

मेरा दिल तोह खबर सुन के
पहले चीख भरे
मेरी जीभ जले
लेकिन ऐसे हालात मई कोई
कोई केसइ अपने घर में
बेटी की उम्मीद करे
ऐसे मौके पर मुझे
फील हॉटी लाचारी
मुजरिमो को दे दू
उनके जुर्म से मई आज़ादी

गुस्से में याद नहीं आती
है ये बात मुझजे
की मेरी लाचारी ही दिखाएगी औकात मुझे
की मेरे बस की नाही कुछ भी
बस लिखता हु मई
क्युकी मई भी हु इक बुज़दिल
क्या मई उसको बचा पता अगर मई तोा उस दिन
शायद नहीं क्युकी मुझे पढ़ी है बस की खुद की

बात बस मई अपनी नहीं , कर रहा हु तेरी भी
जिस ने कभी हिम्मत दिखाने में थोड़ी देरी की
जिस ने कभी आगे बढ़ कर करि नहीं आवाज़
जिसने सिर्फ भीड़ में ही फेर ली थी आँख
जिस को पहले जल्दी होती वीडियो बनाने की
जिस को पहले फ़िक्र होती है पूरे ज़माने की
जिस को लगता है की कोई और पहल करेगा
जिस को लगते है होने दो हमें क्या ?

शायद ये दरिंदे कभी ख़तम नहीं होंगे
और शायद कानून हर बार छोड़ देगा
पर अगर तुझे कभी कुछ गलत होता दिखे
तोह हिम्मत के साथ जाना फोड़ देना
पर अगर तुझे कभी कुछ गलत होता दिखे
तोह हिम्मत के साथ जाना फोड़ देना

0 Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

©[current-year] AdtagMacrosMedia